आग का पवित्रीकरण

वचन में आग बहुत ही अर्थपूर्ण है। कुछ जगहों पर, परमेश्वर की आत्मा और उसके चरित्र को जिस प्रकार वह अपने आपको प्रकट करता है, र्दशाने के लिए आग का प्रयोग किया गया है। जब उसने अपने आपको मुसा के ऊपर प्रकट किया तो जलते हुए झारी के रूप में प्रकट किया(निर्गमन 3ः3-5)। जब प्रेरितों के कार्य 2ः1-4 में पवित्र आत्मा आया तो वचन बताता है कि सबके ऊपर जीभ सी आग आ गयी और वे पवित्र आत्मा से भर गए।


इसलिये हम अपने शुरूआत के वचन में यूहन्ना को पढ़ते है, जहाँ वह पवित्र आत्मा और आग के विषय में बात करता है। अब बहुत सारे लोग ने यूहन्ना के इस बयान से लोगो को यह बतलाकर चकरा दिया है कि पवित्र आत्मा की सामथ्र्य और आग का बपतिस्मा एक है, लेकिन ऐसा नहीं है। जब यूहन्ना ने यह कहा कि यीशु पवित्र आत्मा और आग से बपतिस्मा देगा, तो आग अर्थ यहाँ न्याय होता है।


पवित्र आत्मा की आग शुद्धिकरण के लिए है; इसे न्याय की आग या फिर शुद्धिकरण की आग भी कहते है। बाइबल बताती है कि “…वह अपना खलिहान अच्छी रीति से साफ करेगा, और अपने गेहूँ को तो खत्ते में इकट्ठा करेगा, परन्तु भूसी को उस आग में जलाएगा जो बुझने की नहीं”(मत्ती 3ः12)। यह न्याय है ! यही बात हम मलाकी 3ः2-3 में भी देखते है “परन्तु उसके आने के दिन को कौन सह सकेगा, और जब वह दिखाई दे, तब कौन खड़ा रह सकेगा? क्योंकि वह सोनार की आग और धोगी के साबुन के समान है। वह रूपे का तानेवाला और शुद्ध करनेवाला बनेगा, और लेवियों को शुद्ध करेगा और उनको सोने रूपे के सामन निर्मल करेगा, तब वे यहोवा की भेंट धर्म से चढ़ाएँगे।”


इसलिए पवित्र आत्मा की आग, शुद्धिकरण की आग है; यह आपके जीवन से हरेक अपवित्र चिजें निकाल देती है; यह उनको जला देती है ताकि आपके जीवन में कुछ भी अशुद्ध चिजें न रहे; उसकी आत्मा आपको शुद्ध करती है। यह आपके जीवन से वह हरेक चिजे निकाल देती है जो परमेश्वर की ओर से नहीं है। फिर आप प्रभु के कार्य के लिए अलग और शुद्ध किए जाते है; आप उसके ऐसे बर्तन बन जाते है जो उसको महिमा दे, और उसकी ईच्छा को इस पृथ्वी पर पुरी करे।

प्रार्थना और घोषणा

मुझे यीशु के नाम से और परमेश्वर की आत्मा से धोया गया है, शुद्ध किया गया है ! मुझ में कोई अपवित्रता नहीं क्योंकि पवित्र आत्मा नें मेरी गंदगी को मेरे हृदय से साफ कर दिया है। मैं परमेश्वर की महिमा का ज्योति और उसकी धार्मिकता का प्रकटीकरण बन गया हूँ। आमीन !