DONATE

उसके उपस्थिति का मार्ग

  • July 13, 2020
  • 7 Comments
यूहन्ना 14:6

"यीशु ने उससे कहा, मार्ग और सत्य और जीवन मैं ही हूँ; बिना मेरे द्वारा कोई पिता के पास नहीं पहुँच सकता"

मानव जगत का सबसे दु:खद दिन वह था जब आदम ने अपने पत्नी हव्वा के साथ, परमेश्वर के विरोध पाप किया और परमेश्वर की उपस्थिति से दुर चला गया।

परमेश्वर के स्वरूप और समानता में बनाए जाने के कारण, मनुष्य परमेश्वर के साथ सहभागिता में था! बाईबल बताता है कि आदम और हव्वा के पाप के बाद, परमेश्वर ने जलती हुए तलवार के साथ एक स्वर्गदूत को भेजा कि वह वाटिका के द्वार पर खड़ा रहे और आदम और हव्वा को अदन की वाटिका में दोबारा आने से रोके।

अचानक से मनुष्य (आदम) ने वह गहरी सहभागिता जो खत्म हो गई थी, फिर से खोजना शुरू किया, और फिर हुई धर्म की शुरूवात! मनुष्य ने वह सबकुछ करना शुरू किया ताकि वह उस दैविय उपस्थिति मे दोबारा जा सके।

विश्व में सारे धर्म आज इसी वस्तु को खोज रहे हैः खोई हुई उपस्थिति! जब तक यीशु मसीह इस पृथ्वी पर नही आया तब तक मनुष्य के पास परमेश्वर की उपस्थिति में जाने का कोई भी तरिका नही था। यीशु ने एक अद्भुद बात कही, “मैं ही मार्ग हूँ…कोई भी मेरे बिना पिता के पास नही जा सकता!”, यीशु ही “खोई उपस्थिति” का मार्ग है!
आदम को उसी की आवश्यकता थी। अब्राहम, मूसा और यहूदी याजको उन सबको इसी की जरूरत थीः पिता की उपस्थिति का मार्ग! “नए और जीवते मार्ग से, जो उसने परदे अर्थात् अपने शरीर में से होकर, हमारे लिये पवित्र किया”– इब्रानियों 10ः20।

अब हमारे और पिता के बीच में कोई भी परदा या कोई दूरी नही है; वह हमे परमेश्वर की उपस्थिति में ले आया है, और बाईबल बताता है, “ तेरे निकट आनन्द की भरपूरी है”– भजन 16ः11। परमेश्वर की उपस्थिति जैसा कोई आनंद नही है। मसीह में हमारे पास महिमामय जीवन है!

अगर आपने अभी तक उसकी उपस्थिती में अपना रास्ता नही खोजा है, अगर आप अभी भी नया जन्म नही पाया है तो यह समय आपका है! आपके लिए खुश खबरी है कि अब आपको पाप, हार, और अज्ञानता की कीचड़ में लोटने की कोई आवश्यकता नही है। आपको केवल अपने जीवन के ऊपर यीशु के प्रभुत्व की घोषणा करनी है और फिर आपकी आत्मा पुन: नयी हो जाएगी जिससे आप अपने जीवन में उसके जीवित उपस्थिति का आंनद ले पाऐेंगे।

प्रार्थना और घोषणा

प्यारे पिता, मैं आपके बिना शर्त के प्रेम के लिये हमेशा आभारी हूँ, जो आपने मेरे ऊपर उडेंला है। मैं आपकी उपस्थिति के लिए हमेशा तैयार रहता हूँ। पिता, मैं आपके अद्भुद उपस्थिति के लिए, जो मेरे जीवन में है, धन्यवाद देता हूँ! आपकी उपस्थ्तिि ही मेरा जीवन है! धन्यवाद! यीशु के नाम से आमीन

Comments (7)

7 thoughts on “उसके उपस्थिति का मार्ग”

  1. Yes yeshu mashih ke pas aand ki bharpuri hai thank you sir esh teaching ke liye

  2. Thank you paster ji es subha hme protshahit krne ke liye ki parbhu m Sari barpuri hm pa chuke h thank you Jesus, yeshu ke duwra hi hm apne pita parmeshwar se mil paye,,,

  3. YesYeshu me hi upstite ka marg h jissy mashi anandmy jita h thanks pastor ji

  4. धन्यवाद परमेश्वर कि आपने यीशु मसीह के द्वारा हमें अनंत और महिमामय जीवन दिया।
    Thankyou pastor ji

  5. Dhanyvad Parmeshwar aapane Ishu Masih ke dwara han Hamen Anant aur Mahima ka Jivan Diya Amen Amen
    Hallelujah hallelujah

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave Your Comment