DONATE

आपको चंगाई की आवश्यकता नही!

  • August 19, 2020
  • 2 Comments
3 यूहन्ना 1:2

"हे प्रिय, मेरी यह प्रार्थना है; कि जैसे तू आत्मिक उन्नति कर रहा है, वैसे ही तू सब बातों मे उन्नति करे, और भला चंगा रहे।"

1 पतरस 2:24 यीशु के बारे में बात करते हुए कहता है, “वह आप ही हमारे पापों को अपनी देह पर लिए हुए क्रूस पर चढ़ गया जिस से हम पापों के लिये मर कर के धार्मिकता के लिये जीवन बिताएँ: उसी के मार खाने से तुम चंगे हुए।” बहुत से मसीह लोग इस वचन का इस्तेमाल अपनी चंगाई के घोषणा के लिए करते है, लेकिन क्या आपको पता है कि यह वचन मसीह लोगो के लिए नहीं लिखी गई थी? यह वास्तव में नए प्राणी के लिए नहीं है, क्योंकि पतरस यह पत्री उन यहुदी लोगो को लिख रहा था जो तित्तर बित्तर होकर रह रहे थे(1 पतरस 1:1)


नया प्राणी के पास दैविक जीवन है, एक ऐसा जीवन जो खुद परमेश्वर का है; इसलिए वह कैसे कभी बीमार पर सकता है? तब भी एक आत्मिक छोटे बच्चे के समान, जो मानो मसीह के बातों में अभी बढं रहा हो, आप अपने जीवन में बीमारी का सामना कर सकते है और चंगाई भी प्राप्त कर सकते है। मगर सच्चाई तो यह है कि दैविक चंगाई मसीह में आपकी विरासत है। चंगाई अच्छी है; यह बच्चों की रोटी है, मगर उस चंगाई में लगातार चलते रहना ही परमेश्वर की ईच्छा है; यह एक ऐसी श्रेणी है जहा आपको चंगाई नही चाहिए क्योकि आप बीमार नहीं पड़ते है।


कुछ लोगो के लिए यह तो संभव है ही नहीं कि कोई पुरी तरीके से सेहतपुर्ण जीए; वे सोचते है कि ये बातें बेतुके है, लेकिन यही जीवन यीशु ने हमारे लिए प्रबंध कराया है। उसकी मृत्यु, गाड़ा जाना और पुनरूत्थान ने हमारे लिए यही समपन्न किया है। वह कभी बीमार नही पड़ा। हम बाइबाल में कही नही पढ़ते है कि उसे चंगाई की जरूरत पड़ी; वह एक सिद्ध सेहत में जीया।

परमेश्वर की चंगाई चाहिए के श्रेणी से निकल कर प्रत्येकदिन सेहत मे जीने की श्रेणी में आ जाए। प्रभु यीशु में नए प्राणी का यही जीवन है। जब आप प्रभु में बच्चे होते है,तो यह सच्चाई की प्रभु ने आपकी बीमारी ले ले ली है, अच्छी है। लेकिन इससे परे नए जन्म की जागरूकता और पहचान है, कि परमेश्वर का जीवन सच में आप के अंदर है; कि आप उसके इश्वरीय स्वभाव के समभागी है; आपके पास पुररूत्थान का एक ऐसा जीवन है जो किसी भी बीमारी और रोग से परे है। यह एक उच्च स्तरीय ज्ञान है जिसका अध्धयन आपको अवश्य करना चाहिए और अपने आपको इस जीवन को जीने के लिए प्रेरित करना चाहिए।

प्रार्थना और घोषणा

मैं इस दुनिया और इसके भ्रष्ट प्रभावों से ऊपर जीता हूँ। मेरे शरीर में कोई बीमारी, या दुर्बलता नही पनप सकती, क्योंकि मेरे पास परमेश्वर का जीवन है- मेरी आत्मा में परमेश्वर का अविनाशरी जीवन है! मैं मसीह यीशु में अपनी दैविकता और अमरता के प्रति सचेत रहता हूँ, यीशु के नाम से, आमीन!

Tags:

Comments (2)

2 thoughts on “आपको चंगाई की आवश्यकता नही!”

  1. धन्यवाद करते हैं पिता परमेश्वर का धन्यवाद करते प्रभु यीशु हम अपने जीवन को जो प्रभु यीशु ने दिया है अपने लहू के द्वारा हमारे हर एक पापों को मिटा कर उसी सामर्थ के अंदर हम चल पाएंगे क्योंकि हमारे जीवन में चंगाई की आवश्यकता नहीं है क्योंकि प्रभु यीशु की आत्मा हमारे अंदर बस्ती है उसी आत्मा के द्वारा उसी सामर्थ के द्वारा हम पृथ्वी पर वह कार्य कर पाएंगे जो प्रभु यीशु ने किया है क्योंकि वह सामर्थ हमारे अंदर है। यीशु के नाम से (
    आमीन)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Leave Your Comment